You are currently viewing Pradhan Mantri Shram Yogi Maan dhan 3000 रुपये पेंशन हर महीने
Pradhan Mantri Shram Yogi Maan dhan PM-SYM 3000 रुपये पेंशन हर महीने

Pradhan Mantri Shram Yogi Maan dhan 3000 रुपये पेंशन हर महीने

Table of Contents

Pradhan Mantri Shram Yogi Maan-dhan (PM-SYM) || प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन योजना

भारत सरकार ने असंगठित श्रमिकों के लिए पेंशन योजना लॉन्च की है। Pradhan Mantri Shram Yogi Maan dhan 3000 रुपये पेंशन हर महीने मिलेगी । असंगठित कामगार जैसे घर पर काम करने वाले, स्ट्रीट वेंडर, मिड-डे मील वर्कर, हेड लोडर, ईंट भट्ठा मजदूर, मोची, कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कामगार, धोबी, रिक्शा चलाने वाले, भूमिहीन मजदूर, खुद के अकाउंट वर्कर, खेतिहर मजदूर, कंस्ट्रक्शन वर्कर, बीड़ी श्रमिक, हथकरघा श्रमिक, चमड़ा श्रमिक, दृश्य-श्रव्य श्रमिक और इसी तरह के अन्य व्यवसाय जिन्की मासिक आय रु. 15,000 या इससे कम है और उम्र 18 से 60 साल है ईस योजना मैं शामिल हो सकते हैं।

प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन (पं-सयम) में कौन शामिल नहीं हो सकता

जिस व्यक्ति की आय रु। 15000 से जायदा है, यदी नई पेंशन योजना (एनपीएस), कर्मचारी राज्य बीमानिगम (ईएसआईसी) योजना या कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) मैं पहले से शामिल है, या व्यक्ति इनकम टैक्स पे करता है, ऐसे लोग इस योजना में शामिल नहीं हो सकते हैं।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) योजना की विशेषताएं

ये एक स्वैच्छिक और अंशदायी योजना है, इसके लाभ नीचे उल्लेख हैं

१) इसमे हर subscriber को कम से कम 3000/-रुपये, 60 साल की उम्र के बाद हर महीने मिलेगा
2) यदी subscriber की मौत हो जाती है तो पत्नी को आधी (50%) पेंशन एक परिवार पेंशन के नाम पर मिलेगी। परिवार पेंशन केवल पत्नी को मिलेगी।
3) यदी सब्सक्राइबर की 60 साल की उम्र से पहले मौत हो जाती है तब पत्नी इस योजना को ज्वाइन कर सकती है और नियमित योगदान कर सकती है। यदी पत्नी इस योजना से बाहर निकलना चाहता है तो यह भी एक विकल्प उपलब्ध है।
4) सब्सक्राइबर का योगदान बचत बैंक खाते या जन-धन खाते से ऑटो-डेबिट द्वारा होगा। subscriber को यह राशि योजना मे शमील होने से लेकर 60 साल की उम्र तक भरनी होगी।
5) इस योजना मे जितनी राशि subscriber योगदान करेगा उतनी ही राशि केंद्र सरकार भी योगदान करेगी
उदाहरण के लिए, यदि कोई व्यक्ति 28 वर्ष की आयु में योजना में प्रवेश करता है, तो उसे 100/- रुपये प्रति माह का योगदान करना आवश्यक है 60 वर्ष की आयु तक, इस प्रकार प्रति माह केंद्र सरकार द्वारा १००/- रुपये की समान राशि का योगदान दिया जाएगा।

प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) में पंजीकरण के लिए क्या दस्तावेज चाहिए

subscriber के पास मोबाइल फोन, बचत खाता और आधार नंबर होना आवश्यक है।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) में पंजीकरण

subscriber नज़्दीक के कॉमन सर्विस सेंटर्स (CSC eGovernance Services India Limited (CSC SPV)) में जाकर अपने आधार नंबर और बचत बैंक खाता या जन-धन खाता द्वारा registration कर सकते हैं। फ्यूचर में सब्सक्राइबर वेब पोर्टल या मोबाइल ऐप से भी आधार और बैंक अकाउंट द्वारा रजिस्ट्रेशन कर पाएंगे।

प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) नामांकन एजेंसियां

असंगठित श्रमिक अपने नज़्दिकि कॉमन सर्विस सेंटर में जाकर अपने आधार कार्ड और बचत खाता अथवा जनधन खाता द्वारा योजना मैं रजिस्टर करवा सकता है। पहले माह का योगदान कैश पैसे के रूप में देना होगा और कॉमन सर्विस सेंटर आपको उसकी रसीद देगा।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) के बारे में पूरा मार्गदर्शन

एलआईसी ( LIC Life Insurance Company of India ) के सभी शाखा कार्यालय, ESIC/EPFO के सभी कार्यालय और केंद्रीय एवं राज्य सरकार के सभी श्रमिक ऑफिस में जाकर असंगठित कामगार योजना से जुडी सभी मदद प्राप्त कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) के अंतरगत असंगठित मजदूरों की मदद के लिए क्या व्यवस्थाएं की गई हैं?

LIC ( Life Insurance Company ) के सभी शाखा कार्यालय, ईएसआईसी/ईपीएफओ के सभी कार्यालय और केंद्रीय एवं राज्य सरकार के सभी श्रम कार्यालय में एक “सुविधा डेस्क” बनाया गया है जो असंगठित श्रमिकों को योजना से जुडी और उनके नज़्दिकि कॉमन सर्विस सेंटर की पूर्ण जानकर देंगे।

हर डेस्क में कम से कम एक प्रतिनिधि सेवा के लिए उपलब्ध होगा

हिंदी और क्षेत्रीय भाषा में प्रिंटेड Brochures असंगठित कामगारों को दिए जाएंगे

असंगठित श्रमिक इन केंद्रों पर आधार कार्ड, बचत बैंक खाता/जनधन खाता और मोबाइल फ़ोन लेकर आएंगे

हेल्प डेस्क में इन श्रमिकों के लिए ऑनसाइट उपयुक्त बैठने और अन्य आवश्यक सुविधाएं होंगी।

योजना के बारे में असंगठित श्रमिकों को उनके संबंधित केंद्रों में सुविधा प्रदान करने के लिए कोई अन्य उपाय दिए जाएंगे।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) के अंतरगत जमा राशि को सरकार कहां निवेश करेगी

प्रधानमंत्री श्रम योग मान-धन (पीएम-एसवाईएम) के अंतरगत जामा राशि को सरकार अपने निवेश पैटर्न के अनुसार निवेश करेगी। पेंशन फंड मैनेज करना और पेंशन की राशि देने की जिम्मेदारी एलआईसी (जीवन बीमा कंपनी भारत) की होगी।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) से exit और withdraw

असंगठित कामगारों के कठिन परिश्रम और बेरोजगारी को ध्यान में रखते हुए बाहर निकलने या पैसा निकालने के बहुत ही सरल नियम बनाए गए हैं।

1) यदि कोई subscriber दस साल से कम समय में योजना छोड़ देता है, तो केवल लाभार्थी के अंशदान का हिस्सा उसे बचत बैंक ब्याज के साथ वापस कर दिया जाएगा।

2) यदि कोई subscriber 10 वर्ष या उससे अधिक की अवधि के बाद, लेकिन सेवानिवृत्ति की आयु तक पहुंचने से पहले, यानी 60 वर्ष की उम्र से पहले छोड़ देता है, लाभार्थी को अंशदान के लाभार्थी के हिस्से के साथ-साथ कोई भी फंड द्वारा अर्जित संचित ब्याज या बचत बैंक ब्याज दर पर, जो भी अधिक हो प्राप्त होगा।

3) यदि किसी लाभार्थी ने नियमित योगदान दिया है और किसी कारण से उसकी मृत्यु हो गई है, तो उसके पति या पत्नी के पास विकल्प है नियमित अंशदान कर योजना को जारी रखना या लाभार्थी का अंशदान प्राप्त कर साथ ही फंड द्वारा अर्जित संचित ब्याज या बचत बैंक ब्याज दर, जो भी अधिक हो प्राप्त कर योजना छोड़ना ।

4) यदि किसी लाभार्थी ने नियमित योगदान दिया है और सेवानिवृत्ति की आयु, यानी 60 वर्ष, पहुंचने से पहले स्थायी रूप से अक्षम हो जाता है और इस योजना के तहत योगदान जारी रखने में असमर्थ है, तो उसके पति या पत्नी के पास विकल्प है नियमित अंशदान कर योजना को जारी रखना या लाभार्थी का अंशदान प्राप्त कर साथ ही फंड द्वारा अर्जित संचित ब्याज या बचत बैंक ब्याज दर, जो भी अधिक हो प्राप्त कर योजना छोड़ना ।

५) subscriber के साथ-साथ उसके पति या पत्नी की मृत्यु के बाद, संपूर्ण अर्जित राशि निधि कोष को वापस जमा किया जाएगा ।

6) कोई अन्य निकास प्रावधान, जैसा कि एनएसएसबी की सलाह पर सरकार द्वारा तय किया जा सकता है।

प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) यदि किसी महीने का योगदान नहीं कर पाये तो क्या होगा

यदि किसी अभिदाता ने नियमित आधार पर अपने अंशदान का भुगतान नहीं किया है, तो उसे ऐसा करने की अनुमति दी जाएगी। सभी बकाया राशि का भुगतान, साथ ही सरकार द्वारा लगाए गए किसी भी दंड शुल्क का भुगतान करना पड़ेगा।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) pension कब मिलेगी

जब कोई लाभार्थी 18-40 वर्ष की आयु में कार्यक्रम में शामिल होता है, तो उसे 60 वर्ष की आयु तक योगदान देना आवश्यक है । जब subscriber 60 वर्ष की आयु तक पहुँचता है, तो उसे 3000/- रुपये की सुनिश्चित मासिक पेंशन मिलेगी। साथ ही पारिवारिक पेंशन का लाभ, यदि लागू हो।

प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) के तहत परशानी या शिकायत कैसे बतायें

योजना से संबंधित किसी भी शिकायत को दूर करने के लिए ग्राहक ग्राहक सेवा नंबर 1800 267 6888 पर संपर्क कर सकते हैं जो 24*7 आधार (15 फरवरी 2019 से प्रभावी) पर उपलब्ध होगा। वेब पोर्टल/ऐप में भी होगा शिकायत दर्ज करने की सुविधा है।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) कॉमन सर्विस सेंटर कैसे पता करें (सीएससी)

असंगठित श्रमिक यहां पर क्लिक करें locator.csccloud.in करें और अपना नज़्दिकि सीएससी पता करें।

प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन योजना क्या है ?

भारत सरकार ने असंगठित श्रमिकों के लिए पेंशन योजना लॉन्च की है। असंगठित कामगार जैसे घर पर काम करने वाले, स्ट्रीट वेंडर, मिड-डे मील वर्कर, हेड लोडर, ईंट भट्ठा मजदूर, मोची, कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कामगार, धोबी, रिक्शा चलाने वाले, भूमिहीन मजदूर, खुद के अकाउंट वर्कर, खेतिहर मजदूर, कंस्ट्रक्शन वर्कर, बीड़ी श्रमिक, हथकरघा श्रमिक, चमड़ा श्रमिक, दृश्य-श्रव्य श्रमिक और इसी तरह के अन्य व्यवसाय जिन्की मासिक आय रु. 15,000 या इससे कम है और उम्र 18 से 60 साल है ईस योजना मैं शामिल हो सकते हैं।

प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन (पं-सयम) में कौन शामिल नहीं हो सकता ?

जिस व्यक्ति की आय रु। 15000 से जायदा है, यदी नई पेंशन योजना (एनपीएस), कर्मचारी राज्य बीमानिगम (ईएसआईसी) योजना या कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) मैं पहले से शामिल है, या व्यक्ति इनकम टैक्स पे करता है, ऐसे लोग इस योजना में शामिल नहीं हो सकते हैं।

प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) में पंजीकरण के लिए क्या दस्तावेज चाहिए ?

subscriber के पास मोबाइल फोन, बचत खाता और आधार नंबर होना आवश्यक है।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) में registration कैसे करे ?

subscriber नज़्दीक के कॉमन सर्विस सेंटर्स (CSC eGovernance Services India Limited (CSC SPV)) में जाकर अपने आधार नंबर और बचत बैंक खाता या जन-धन खाता द्वारा registration कर सकते हैं। फ्यूचर में सब्सक्राइबर वेब पोर्टल या मोबाइल ऐप से भी आधार और बैंक अकाउंट द्वारा रजिस्ट्रेशन कर पाएंगे।

यह भी पढ़ें

Ayushman Bharat Digital योजना के लाभ
Covid-19 Vaccination सरकार का अपडेट
अन्य देशों के साथ सरकार का Tax कार्यक्रम

Leave a Reply