You are currently viewing Navjot Singh Sidhu Jeevani Hindi
Navjot-Singh-Sidhu-Jeevani

Navjot Singh Sidhu Jeevani Hindi

Navjot Singh Sidhu Jeevani Hindi || Biography of Navjot Singh Sidhu ( Education, Politics,Cricket, Film and Television )

नवजोत सिंह सिद्धू भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक राजनेता, एक टीवी व्यक्तित्व और एक पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं। वह अब पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के रूप में कार्य करते हैं। वह पहले पंजाब सरकार के राज्य के भीतर पर्यटन और सांस्कृतिक मामलों के मंत्री थे।

नवजोत सिंह सिद्धू का बचपन और शिक्षा

सिद्धू का जन्म 20 अक्टूबर 1963 को पटियाला, पंजाब, भारत में हुआ था। सरदार भगवंत सिंह, उनके पिता, एक सम्मानित क्रिकेट खिलाड़ी थे, जो अपने बेटे नवजोत को एक बेहतरीन क्रिकेटर बनते देखना चाहते थे। सिद्धू ने पटियाला के यादवेंद्र पब्लिक स्कूल में पढ़ाई की। बाद में वे पढ़ने के लिए मुंबई के एचआर कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स गए।

नवजोत सिंह सिद्धू की निजी जिंदगी

डॉक्टर और पंजाब विधायिका की पूर्व सदस्य नवजोत कौर सिद्धू उनकी पत्नी हैं। दंपति के दो बच्चे हैं: राबिया, एक बेटी और करण, एक बेटा। उनके बेटे करण सिंह सिद्धू वकील हैं। उनका बेटा दिल्ली में वकील था। सिद्धू की बेटी राबिया सिद्धू ने लंदन में इंटीरियर डिजाइनिंग की पढ़ाई की है। सिद्धू एक तेजतर्रार व्यक्ति हैं। वे खिलखिलाकर हंस पड़ते हैं। वे हमेशा चमकीले रंग की पगड़ी पहनते हैं। शेरी एक उपनाम है जिसे उन्होंने अपने करियर के दौरान साथी क्रिकेटरों से मिला है।

नवजोत सिंह सिद्धू का क्रिकेट करियर

सिद्धू ने नवंबर 1981 में अमृतसर में सर्विसेज के खिलाफ पंजाब के लिए करियर का पहला प्रथम श्रेणी मैच खेला। उन्होंने रन आउट होने से पहले पहली पारी में 51 रन बनाए और उनकी टीम ने एक पारी से मैच जीत लिया। North Zone के लिए वेस्टइंडीज टीम के खिलाफ शतक (122) बनाने के बाद उन्हें नवंबर 1983 में भारतीय टेस्ट टीम में बुलाया गया था। मद्रास में अंतिम टेस्ट में खराब प्रदर्शन के बाद उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था।

चार साल बाद, विश्व कप में, सिद्धू को राष्ट्रीय टीम में वापस बुलाया गया। उन्होंने ग्रुप स्टेज के पहले गेम में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (वनडे) डेब्यू किया, जिसमें 79 गेंदों में 73 रन में 5 छक्के और 4 चौके शामिल थे। भारत अंततः एक रन से मैच हार गया। भारत के अगले मैच में, न्यूजीलैंड के खिलाफ, सिद्धू ने विश्व कप में पहली बार चार छक्कों और चार चौकों की मदद से 75 रन बनाकर अपनी टीम को जीत दिलाई ।
सिद्धू ने ऑस्ट्रेलिया और जिम्बाब्वे (क्रमशः 51 और 55) के खिलाफ लगातार दो अर्द्धशतक जोड़े, और वे एकदिवसीय इतिहास में डेब्यू पर लगातार चार अर्धशतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बन गए।

उन्होंने पहला एकदिवसीय शतक 1989 में शारजाह में पाकिस्तान के खिलाफ बनाया था, और 1993 में ग्वालियर में इंग्लैंड के खिलाफ उनका 134 रन सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय स्कोर था और जिस पारी को उन्होंने 1999 में सेवानिवृत्त होने पर अपना सर्वश्रेष्ठ बताया था। सिद्धू ने (1993, 1994 और 1997) में हर एक साल 500 से अधिक टेस्ट रन बनाए हैं। भारत के 1997 के वेस्टइंडीज दौरे के दौरान, उन्होंने अपना एकमात्र टेस्ट दोहरा शतक बनाया। उन्होंने 1994 में 884 एकदिवसीय रन बनाए। सिद्धू एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में पांच सौ तक पहुंचने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने।

दिसंबर 1999 में, उन्होंने सभी प्रकार के क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की। उन्होंने 51 टेस्ट मैचों और 100 से अधिक एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में लगभग 7,000 अंतरराष्ट्रीय रन बनाए। अपने 18 साल के करियर के दौरान, उन्होंने 27 प्रथम श्रेणी शतक बनाये।

नवजोत सिंह सिद्धू के करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

FormatScoreMatch
Test201West Indies v India
ODI134India v England
FC286Jamaica v Indians
LA139Punjab v Jammu and Kashmir

एक कमेंटेटर के रूप में नवजोत सिंह सिद्धू का करियर

2001 में जब भारत ने श्रीलंका का दौरा किया, तो सिद्धू ने एक कमेंटेटर के रूप में अपना करियर शुरू किया। सिद्धू को उनके वन-लाइनर्स के लिए एक कमेंटेटर के रूप में जाना जाता था, जिसे “Sidhuisms” के रूप में जाना जाने लगा। वेबसाइट sidhuisms.com, में उनकी टिप्पणी से “Sidhuisms of the Day” के रूप में प्रतियोगिताएं आयोजित की थीं ।

नवजोत सिंह सिद्धू का फिल्म और टेलीविजन करियर

सिद्धू टेलीविजन शो द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज में बतौर जज नजर आ चुके हैं। अन्य शो, जैसे कि फुंजाबी चक दे में भी उन्होंने काम किया। उन्होंने टेलीविजन श्रृंखला करीना करीना में खुद की भूमिका निभाई। वे रियलिटी शो बिग बॉस 6 में एक प्रतियोगी थे, लेकिन 2012 में राजनीतिक कारणों से प्रतियोगिता छोड़नी पड़ी।

Navjot Singh Sidhu Jeevani

सिद्धू कॉमेडी शो कॉमेडी नाइट्स विद कपिल में 2013 से 2016 में समाप्त होने तक एक नियमित अतिथि थे। वह द कपिल शर्मा शो सीजन 1 और 2 और फैमिली टाइम विद कपिल शर्मा में नियमित अतिथि के रूप में दिखाई दिए।
सिद्धू ने 2019 की शुरुआत में उस समय विवाद खड़ा कर दिया जब पुलवामा आतंकवादी हमले पर उनकी प्रतिक्रिया, जिसमें भारत के सीमा सुरक्षा बलों के 40 सदस्य मारे गए, को पाकिस्तान का पक्ष लेने के रूप में गलत समझा गया। उन्हें द कपिल शर्मा शो के सीज़न 2 को छोड़ने के लिए कहा गया, जहाँ वह लंबे समय से नियमित अतिथि थे, और अर्चना पूरन सिंह ने उनकी जगह ली।

साइरस साहूकार एक एमटीवी शो की मेजबानी करते थे, जिसे पिधु द ग्रेट कहा जाता था, जिसमें उन्होंने सिद्धू doppelganger पिधु होने का नाटक किया था। “पिधुवाद” शो में एक-लाइनर था जो सिद्धूवाद के समान था। सुनील ग्रोवर ने द कपिल शर्मा शो के पहले सीजन में ऐसा ही character किया था।

सिद्धू ने 2004 की हिंदी फिल्म मुझसे शादी करोगी में एक क्रिकेट पंडित के रूप में एक संक्षिप्त भूमिका निभाई। उन्होंने पंजाबी भाषा की फिल्म मेरा पिंड में गायक हरभजन मान के साथ एक प्रमुख भूमिका निभाई, जिसमें उन्होंने एक अनिवासी भारतीय की भूमिका निभाई, जो विदेश में समृद्ध जीवन के बाद अपनी मातृभूमि लौटता है। उनका सबसे हालिया फिल्म प्रदर्शन 2015 में एबीसीडी 2 में था, उसके बाद कॉमेडी नाइट्स विद कपिल में एक स्थायी अतिथि के रूप में एक कैमियो किया था।

नवजोत सिंह सिद्धू का राजनीति में करियर

2004 के भारतीय आम चुनावों में, सिद्धू ने भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर अमृतसर सीट जीती। उनके खिलाफ एक न्यायिक मामले के कारण उन्हें इस्तीफा देना पड़ा लेकिन फैसले पर रोक लगने के बाद वे फिर से खड़े हो गए। उपचुनाव में उन्हें प्रचंड बहुमत मिला था। 2009 के आम चुनाव में उन्होंने कांग्रेस के ओम प्रकाश सोनी को 6858 मतों से हराया। 2014 के भारतीय आम चुनाव में अमृतसर से पार्टी के उम्मीदवार के रूप में नामांकित नहीं होने के बाद, सिद्धू ने कहा

“अमृतसर वह जगह है जहां मेरे काम और कर्म खुद बोलते हैं। मैंने खुद से प्रतिज्ञा की थी कि जब से मैंने यहां से चुनाव लड़ना शुरू किया है, मैं इस पवित्र स्थल को कभी नहीं छोड़ूंगा। या तो, मैं अमृतसर से चुनाव लड़ूंगा, या फिर मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा।”

28 अप्रैल 2016 को नवजोत सिंह सिद्धू ने राज्यसभा के सदस्य के रूप में शपथ ली। अफवाहों के अनुसार, सिद्धू को आम आदमी पार्टी में शामिल होने से रोकने के लिए उन्हें राज्यसभा के लिए नामांकित किया गया था। हालांकि, उन्होंने 18 जुलाई 2016 को राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया था।

2 सितंबर 2016 को, सिद्धू, परगट सिंह और बैंस भाइयों ने आवाज़-ए-पंजाब की शुरुआत की, जो पंजाब का विरोध करने वालों से लड़ने के लिए एक नया राजनीतिक मोर्चा था।

सिद्धू जनवरी 2017 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए। उन्होंने 2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव में अमृतसर पूर्व निर्वाचन क्षेत्र में 42,809 मतों के अंतर से जीत हासिल की। क्रिकेटर से नेता बने नवजोत सिंह सिद्धू, जिन्होंने पिछले साल भाजपा छोड़ दी थी, शपथ लेने वाले नौ मंत्रियों की सूची में तीसरे स्थान पर थे।

विवादों से घिरी नवजोत सिंह सिद्धू की जिंदगी

पुलवामा हमले पर प्रतिक्रिया

सिद्धू ने 15 फरवरी, 2019 को द कपिल शर्मा शो में एक उपस्थिति के दौरान जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में भारतीय सैनिकों पर हाल के हमले को “कायरतापूर्ण और शैतानी” बताया। हालांकि, उन्होंने एक बहस छेड़ दी जब उन्होंने पूछा, “क्या आप मुट्ठी भर लोगों के लिए पूरे पाकिस्तान राष्ट्र की निंदा कर सकते हैं, या आप किसी व्यक्ति को दोष दे सकते हैं?”
भाजपा नेता गिरिराज सिंह ने सिद्धू को कांग्रेस पार्टी से निष्कासित करने की मांग की।

16 फरवरी को, द कपिल शर्मा शो ने सिद्धू को एक प्रस्तुतकर्ता और स्थायी अतिथि के स्थान से हटाकर उनकी जगह अर्चना पूरन सिंह को दे दी।

बालाकोट पर हवाई हमला

सिद्धू ने पाकिस्तान, बालाकोट में भारतीय वायु सेना के आतंकवाद विरोधी अभियान की आलोचना की। ‘क्या आप आतंकवादियों या पेड़ों को उखाड़ रहे थे?’ उन्होंने एक ट्वीट में आश्चर्य जताया। सिद्धू ने बालाकोट पर हवाई हमले के उद्देश्य पर सवाल उठाया।

सिद्धू का पाकिस्तान दौरा

नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ समारोह में शामिल होने के लिए पाकिस्तान गए थे। उन्होंने पाकिस्तान में पाकिस्तानी सेना प्रमुख कुमार जावेद बाजवा को गले लगाया। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने तब उनके कार्यों के लिए उनकी आलोचना की।

हत्या के मामले में सजा

सिद्धू पर 1991 में गुरनाम सिंह पर हमला करके उनकी हत्या करने का आरोप लगाया गया था। इस घटना के बाद, उन्हें पंजाब पुलिस ने हिरासत में लिया और कई दिन पटियाला जेल में रखा।
सिद्धू को एक निचली अदालत ने रिहा कर दिया था, लेकिन पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने उन्हें 2006 में गैर इरादतन हत्या का दोषी पाया और रोड रेज मामले में तीन साल जेल की सजा सुनाई।
इसके बाद सिद्धू और उनके एक दोस्त सुप्रीम कोर्ट गए। श्री सिद्धू की सजा को निलंबित कर दिया गया था और उन्हें 2007 में सुप्रीम कोर्ट ने जमानत दे दी थी। निलंबित सजा के कारण वे अमृतसर से लोकसभा उपचुनाव में भाग ले सके।
क्योंकि “गुनाह साबित करने के लिए अपर्याप्त सबूत थे जस्टिस चालेमेश्वर और संजय किशन कौल की अगुवाई वाली पीठ ने दोनों को 2018 में रुपये 1,000 के जुर्माने के साथ छोड़ दिया।

नवजोत सिंह सिद्धू की लोकप्रिय शायरी

सिकंदर हालात के आगे नहीं झुकता
तारा टूट भी जाये जमीन पर आकर नहीं गिरता
गिरते है हजारो दरिया समंदर में
पर कोई समंदर किसी दरिया में नहीं गिरता

जो वक़्त अपना बर्बाद नहीं करता
किसी की दुनिया आबाद नहीं करता
जिस किसी ने जगह मिलेगी जीत से
हारने वालो को जमाना याद नहीं करता

सूरज हूँ जिंदगी की चमक छोड़ जाऊँगा,
फिर लौट आने की खनक छोड़ जाऊँगा
मै सबकी आँखों से आंसू समेट कर,
सबके दिलो में अपनी झलक छोड़ जाऊँगा

जोड़ने वाले को मान मिलता है
तोड़ने वाले को अपमान मिलता है,
और जो खुशियाँ बाँट सके उसे सम्मान मिलता है

आयु थोड़ी बड़ी है, लेकिन उत्साह आज भी वही है
नदी चाहे गहरी है लेकिन प्रवाह आज भी वही है
वही दमखम वही चम चम, मन ठाठ वही है
तलवार पुरानी है पर धार और काट आज भी वही है

कहते हैं जहां सिर झुक जाये वहीं मंदिर,
जहां हर नदी सम जाये वहीं समंदर है,
जीवन की इस कर्मभूमि में युद्ध बहुत है,
जो हर जंग जीत जाये वही सलमान जैसा सिकंदर है।

शेर चला करते हैं,
खुद्दार चला करते हैं,
सिर ऊंचा करके कौम पे,
सनी देओल जैसे सरदार चला करते हैं।

गुलाबो की खुशबु दीवारे रोक नहीं सकती,
हवाओ का बहाव मीनारे रोक नहीं सकती,
बुलंद हौसले ही जीवन की हकीकत है,
फौलादो की तकदीर तब्दिरे रोक नहीं सकती

नवजोत सिंह सिद्धू के लोकप्रिय Life Quotes

एक गिरा हुआ प्रकाशस्तंभ किसी चट्टान से भी अधिक खतरनाक होता है।

तीसरा अंपायर उतनी ही जल्दी बदलना चाहिये जितने जल्दी की आप बच्चे की लंगोट बदलते है।

समुद्र शांत हो तो कोई भी जहाज चला सकता है।

बिना जोखिम के कुछ नही मिलता और जोखिम वही उठाते है जो साहसी होते है।

जो कभी पासा नही फेकता वो कभी छक्का मारने की उम्मीद ही नही कर सकता।

यह भी पढ़ें

सरदार उधम सिंह की जीवनी
बॉलीवुड की आने वाली फिल्मे

Leave a Reply